भारत के सात अजूबे कौन से हैं ||

कैसे और कब चुने गए थे भारत के सात अजूबे

भारत के सात अजूबे - 7 जुलाई 2007 को दुनिया के सात अजूबे घोषित होने के बाद भारत के एक समाचार पत्र टाइम्स ऑफ इंडिया ने भारत के सात अजूबे चुनने के लिए 21 जुलाई से 31 जुलाई के बीच एक सिंपल मोबाइल मैसेज मतदान करवाया| जिसमें भारत के 20 प्राचीन तथा मध्यकालीन स्थलों को चुना गया था जिनमें से कुल 7 चुनना था|

मतदान के अनुसार चुने गए भारत के 7 अजूबों की सूची

1.श्रवणबेलगोला या गोमतेश्वर
2. स्वर्ण मंदिर या गोल्डन टेंपल
3. ताजमहल
4. हंपी
5. कोणार्क
6. नालंदा
7. खजुराहो
भारत के सात अजूबे

1. श्रवणबेलगोला या गोमतेश्वर

गोमतेश्वर को जैन संत बाहुबली के नाम से जानते हैं| यह कर्नाटक राज्य के श्रवणबेलगोला शहर के निकट चंद्रगिरी पहाड़ी की चोटी पर स्थित एक पत्थर से निर्मित विशालकाय मूर्ति है| इसका निर्माण गंगा राजा रचमल के एक मंत्री चामुंडाराया द्वारा लगभग 983 ईसवी में करवाया गया था|

Bharat ke saat ajoobe
Bharat ke saat ajoobe

यह मूर्ति धार्मिक रूप से भी अत्यधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि जैन धर्म के लोग मानते हैं कि सब पहले मोक्ष बाहुबली को ही मिला था| यह मूर्ति बिना किसी समर्थन के खड़े हुए हैं|

हर 12 साल में हजारों श्रद्धालु महामस्तकाभिषेक के लिए यहां एकत्रित होते हैं तथा इस अत्यंत शानदार मौके पर मूर्ति का दूध, दही, घी, केसर तथा सोने के सिक्कों से अभिषेक किया जाता है|

2. स्वर्ण मंदिर

स्वर्ण मंदिर को हरिमंदिर साहिब दरबार साहिब भी कहा जाता है| यह सिखों का सबसे पुराना गुरुद्वारा होने के साथ-साथ महत्वपूर्ण तीर्थ स्थान भी है|
सिखों के चौथे गुरु रामदास ने 1577 ईस्वी में एक सरोवर की खुदाई की जो बाद में अमृत सरोवर से जाना गया| शहर अमृतसर जहां पर यह स्थित है उसका नाम भी इसी सरोवर के नाम पर रखा गया है|

Bharat ke saat ajoobe
Bharat ke saat ajoobe

यह एक आयताकार मंच पर बना हुआ है जोकि चारों तरफ से अमृत सरोवर से भरा हुआ है| यह दुनिया भर के सिख धर्म के लोगों का सबसे पवित्र तीर्थ स्थल है लेकिन यहां पर सभी धर्म के लोग जा सकते हैं| इसकी अंदर की दीवारों नक्काशी को चांदीऔर सोने जड़े काम से सजाया गया है जिसके कारण इसे स्वर्ण मंदिर कहां जाता है|

3. ताजमहल

सफेद संगमरमर से बना ताजमहल भारत के आगरा शहर में यमुना नदी के किनारे पर बना हुआ है| यह दुनिया के सबसे फेमस टूरिस्ट प्लेसिस में से एक है|
हर वर्ष यहां देशों से घूमने के लिए लाखों टूरिस्ट आते हैं| ताजमहल मुगल सम्राट शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया था जोकि मुगल वास्तुकला का सर्वोत्तम नमूना है इसका निर्माण कार्य 1648 मैं पूरा हुआ था|
Bharat ke saat ajoobe
Bharat ke saat ajoobe

ताजमहल के निर्माण के लिए पूरे मुगल साम्राज्य, मध्य एशिया तथा ईरान तक के कारीगरों को बुलाया गया था| ऐसा कहा जाता है कि इसका निर्माण पूरा होने के बाद इसे बनाने में लगे सभी मजदूरों के हाथ कटवा दिए गए थे ताकि दुनिया में कोई दूसरी ऐसी खूबसूरत बिल्डिंग ना बन सके| ताजमहल दुनिया के सात अजूबों में से एक है

4. हम्पी

हम्पी भारत के कर्नाटक में तुंगभद्रा नदी के किनारे पर स्थित एक यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल है| हम्पी एक मध्यकालीन हिंदू राज्य विजयनगर साम्राज्य की राजधानी हुआ करती थी|
सन 1565 ईसवी में दक्खन पर विजय प्राप्त करने वाले मुस्लिम आक्रमणकारियों द्वारा इसको पूरी तरह से बर्बाद कर दिया गया था और अब यह केवल खंडहरों के रूप में ही अवशेष हैं|


Bharat ke saat ajoobe
Bharat ke saat ajoobe

लेकिन इन्हें आज भी देखकर यह कहा जा सकता है यहां एक बेहद ही समृद्धसाली सभ्यता निवास करती थी| ऐसा कहा जाता है कि यहां के राजाओं को सोने, चांदी, अनाज और रुपयों से तोला जाता था तथा उन्हें गरीबों में बांट दिया जाता था|

5. कोणार्क

कोणार्क उड़ीसा राज्य का एक छोटा सा शहर है जहां पर कोणार्क सूर्य मंदिर स्थित है| निर्माण पूर्वी गंगा वंश के राजा नरसिंह देव द्वारा काले ग्रेनाइट से 1236 से 1264 ईस्वी के बीच करवाया गया था| कोणार्क सूर्य मंदिर को ब्लैक पैगोडा भी कहा जाता है|


Bharat ke saat ajoobe
Bharat ke saat ajoobe

मंदिर का निर्माण एक विशाल रथ के आकार में किया गया है जिसमें सात घोड़े लगे हुए हैं और सूर्य देवता को आकाश मार्ग से ले जाते दिखाया गया है| सूर्य मंदिर का निर्माण भारतीय मंदिर निर्माण की कलिंग शैली से निर्मित है| यह मंदिर एक यूनेस्को विश्व विरासत स्थल है|

6. नालंदा

नालंदा बिहार राज्य की राजधानी पटना के पास स्थित है जो कि दुनिया के सबसे पहले विश्वविद्यालयों में से एक है| कुछ ऐतिहासिक अध्ययनों के अनुसार यह पता चला है कि नालंदा विश्वविद्यालय को गुप्त वंश के सम्राटों द्वारा 450 ईसवी में स्थापित किया गया था| नालंदा विश्वविद्यालय वास्तुशिल्प का एक बेहद ही बेहतरीन नमूना है|


Bharat ke saat ajoobe
Bharat ke saat ajoobe

यहां पर लगभग 10,000 विद्यार्थी और 2000 शिक्षक रहते थे| यहां पर जापान, कोरिया, तुर्की , चीन, इंडोनेशिया जैसे सुदूर इलाकों से भी विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण करने के लिए आते थे| यहां का पुस्तकालय एक 9 मंजिला इमारत में स्थित था जहां पर सभी ग्रंथों की प्रति बहुत ही सावधानीपूर्वक बनाई जाती थी|

7. खजुराहो

खजुराहो मध्य प्रदेश में स्थित बेहद ही खूबसूरत हिंदू और जैन मंदिरों के मध्ययुगीन मंदिरों का सबसे बड़ा समय है| खजुराहो में स्थित मंदिरों का निर्माण चंदेल वंश के शासकों द्वारा 950 से 1050 ईसवी के बीच करवाया गया था| यह एक यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल है|


Bharat ke saat ajoobe
Bharat ke saat ajoobe

खजुराहो में कुल 85 मंदिर थे जिनमें से कुछ समय के साथ नष्ट होकर कुल 25 ही बचे हुए हैं| खजुराहो अपनी कामुक कलाकृति के लिए भी प्रसिद्ध है| यह दुनिया का एकमात्र ऐसा मंदिर है जहां पूरे परिसर में कामसूत्र से संबंधित कामुक आकृतियां बनाई गई हैं|

यह भी पढ़ें :- दुनिया के सात अजूबे कौन से हैं

यह भी पढ़ें :- दुनिया का सबसे छोटा देश कौन सा है

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां