दुनिया के नए सात अजूबे कौन से है || 7 अजूबे

दुनिया के नए सात अजूबे

ऐसा माना जाता है कि आज से 2200 साल पहले हेरोडोटस और कैलीमाचस ने सबसे पहले सात अजूबों की सूची बनाई थी| हालांकि इनके द्वारा चुने गए अजूबे मैं से केवल एक ही बचा है जोकि गीजा के पिरामिड है इसलिए वर्ष 2000 में एक स्वीटजरलैंड की संस्था ने नए 7 अजूबों को चुनने का प्रस्ताव दुनिया के सामने पेश किया |

स्विश फाउंडेशन ने सन 2000 मैं नई पिक्चर साहिबा मतदान कराया जिसमें मौजूदा समय के 200 यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट का चयन किया जिनमें से कुल 7 को चुनना था| यह एक बेहद ही कठिन कार्य था लेकिन दुनिया का सबसे बड़ा मतदान पूरा हुआ जिसका रिजल्ट 7 जुलाई 2007 को घोषित किया गया |

दुनिया के नए 7 अजूबों की सूची :-

1. चीन की महान दीवार

2. ताजमहल

3. रोमन कोलोसियम

4. क्राइस्ट द रिडीमर

5. माचू पिचू

6. चिचेन इट्ज़ा

7. पेट्रा


दुनिया के सात अजूबों की सूची की वीडियो

1. ताजमहल


ताज महल के बारे में तो आप सब ने सुना ही होगा भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में यमुना नदी के किनारे पर स्थित है || ताजमहल को symbol of love भी कहा जाता है क्योंकि इसका निर्माण शाहजहां ने अपनी सबसे प्रिय पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया था| ताजमहल के निर्माण के लिए दुनिया भर से सफेद संगमरमर के पत्थर मंगाए गए थे तथा इसका निर्माण 1632 से 1648 के बीच हुआ था |

दुनिया के नए सात अजूबे
दुनिया के नए सात अजूबे

ताजमहल को 1983 में यूनेस्को विश्व धरोहर घोषित किया गया था ताजमहल को बनाने में समय पर 32 मिलियन रुपए की लागत आई थी जोकि 2020 में 70 अरब रुपए के बराबर है |

यह भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की सबसे प्रसिद्ध टूरिस्ट attraction मैं से एक है| यहां हर साल लाखों टूरिस्ट घूमने के लिए आते हैं| ताजमहल की टिकट भारतीयों के लिए ₹40 तथा विदेशी पर्यटकों के लिए ₹1000 हैं|

2. चीन की दीवार

चीन की दीवार का निर्माण पत्थरों, लकड़ी, ईंटों और रेत द्वारा 5वी शताब्दी ईसा पूर्व से 16वीं शताब्दी तक किया गया था || यह मानव निर्मित दुनिया का सबसे लंबा स्ट्रक्चर है || इसका निर्माण चीनी साम्राज्य की सीमाओं को हमलावरों से बचाने के लिए तथा चीन से गुजरने वाले silk root को नियंत्रित करने किया गया था |

दुनिया के नए सात अजूबे
दुनिया के नए सात अजूबे

वास्तव में चीन की दीवार कई छोटी-छोटी दीवारों से मिलकर बनी हुई है जिनको किन साम्राज्य के पहले सम्राट में जुड़वा कर एक कराया था| ऐसा कहा जाता है कि चीन की दीवार अंतरिक्ष से भी दिखाई देती है |

चीन की दीवार को वर्ष 1987 में यूनेस्को विश्व धरोहर घोषित किया गया था | चीन की दीवार को घूमने के लिए लगने वाली टिकट का मूल्य 65 युआन है

3. रोमन कोलोसियम

रोमन कोलोजियम इटली के रोम शहर में स्थित रोमन साम्राज्य का सबसे विशाल एंफीथिएटर है का निर्माण 70 ईस्वी से 80 ईसवी के बीच हुआ था| इस अंडाकार कोलोजियम की क्षमता 50,000 से 60,000 दर्शकों की है जो उस समय में कोई साधारण बात नहीं थी|

दुनिया के नए सात अजूबे
दुनिया के नए सात अजूबे

इस कोलोजियम में योद्धाओं के बीच खूनी लड़ाइयां हुआ करती थी, योद्धाओं को जानवरों से लड़के थे, ग्लेडिएटर बाघों से लड़ते थे और यह सब होता था केवल मनोरंजन के लिए | एक अनुमान के मुताबिक इस कोलोजियम में ऐसे प्रदर्शनों में लगभग 5,00,000 पशु तथा 10,00,000 मनुष्य मारे गए थे|

इसके अतिरिक्त पौराणिक कथाओं पर आधारित नाटक भी यहां जहां खेले जाते थे| आज 21वीं सदी में यह भूकंप और पत्थर चोरों के कारण खंडहर के रूप में परिवर्तित हो गई है आज यह यूनेस्को विश्व धरोहर है तथा दुनिया के सात अजूबों में से एक है||

4. माचू पिचू

माचू पिचू इंका सभ्यता से संबंधित अमेरिकी देश पेरू में स्थित एक ऐतिहासिक स्थल है| यह उरुबाम्बा घाटी, जिसमे से उरुबाम्बा नदी बहती है मैं समुद्र तल से 2430 मीटर की ऊंचाई पर एक पहाड़ पर स्थित है|

दुनिया के नए सात अजूबे
दुनिया के नए सात अजूबे

 इसे "इंकाओं का खोया शहर" भी कहा जाता है माचू पिचू को 1981 में पेरू का एक ऐतिहासिक देवालय घोषित किया गया और 1983 में इसे यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल का दर्जा दिया गया था|

 माचू पिचू को 1911 में एक अमेरिकी इतिहास का हीरम विंघम ने खोजा था || तब से यह दुनिया के सबसे प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों में से एक है|| इसका टिकट मूल्य $48 डॉलर है||

5. क्राइस्ट दा रिडीमर

क्राइस्ट द रिडीमर ब्राजील के रियो डी जेनेरो में स्थित ईसा मसीह की एक प्रतिमा है | इस प्रतिमा की कुल ऊंचाई 39.6 मीटर है तथा यह 30 मीटर चौड़ी है इसका कुल वजन 635 टन है || यह तिजुका फॉरेस्ट नेशनल पार्क के कोर्कोवाडो पर्वत की चोटी पर स्थित है जहां से पूरा का पूरा शहर दिखाई देता है|

दुनिया के नए सात अजूबे

ईसाई धर्म के प्रति के रूप में यह प्रतिमा ब्राजील और रियो की एक पहचान बन गई है|| इसका निर्माण 1922 से 1931 के बीच कंक्रीट और सोपस्टोन से बनी है|| इसको बनाने में लगने वाली कुल लागत 2,50,000 अमेरिकी डॉलर थी| क्राइस्ट द रिडीमर का टिकट मूल्य 60 रियल है||

6. चिचेन इत्जा

चिचेन इत्जा मेक्सिको में यूकाटन राज्य के पूर्वी भाग में स्थित है|| आपको बताते चलें कि यह एक पूरा का पूरा शहर है जिसका निर्माण 1200 साल पहले माया सभ्यता द्वारा किया गया था जो कि कुल 4 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल में फैला हुआ था |

दुनिया के नए सात अजूबे
दुनिया के नए सात अजूबे

चिचेन इत्जा अपने पत्थरों से बने हुए पिरामिड नुमा मंदिरों के लिए फेमस है| चिचेन इत्जा के बारे में सबसे इंटरेस्टिंग बात यह है कि इसके हार मंदिर में 365 सीढ़ियां हैं जोकि साल के हर एक दिन का प्रतिनिधित्व करती हैं|

वर्ष 2017 में 2.7 मिलियन से अधिक पर्यटक चिचेन इत्जा घूमने के लिए आए थे|| चिचेन इत्जा को 1988 में एक यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था तथा इसका टिकट प्राइस 480 पेसो है

7. पेट्रा

पेट्रा जॉर्डन के महान प्रांत में स्थित एक ऐतिहासिक नगरी हैं जोकि अपने पत्थरों से तराशे गई इमारतों और पानी वाहन प्रणालियों के लिए प्रसिद्ध है|

दुनिया के नए सात अजूबे
दुनिया के नए सात अजूबे

माना जाता है कि इसका निर्माण कार्य 1200 ईसा पूर्व के आसपास शुरू हुआ था तथा आज आधुनिक युग में यह एक मशहूर पर्यटक स्थल है| इसे वर्ष 1985 में यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था|

दुनिया के नए 7 अजूबों की सूची


क्रमांक देश का नाम अजूबा
1 ताज महल भारत
2 चीन की दीवार चीन
3 रोमन कोलोजियम इटली 
4 माचू पिचू पेरू
5 क्राइस्ट द रिडीमर ब्राजील
6 चिचेन इत्जा मेक्सिको 
7 पेट्रा जॉर्डन

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां